सुखबीर बादल ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला, देर रात तक सड़क पर दिया धरना

0

PBK NEWS | तरनतारन/फिरोजपुर। पंजाब में नगर निगम चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के बीच घमासान तेज हाेता जा रहा है। प्रदेश में निकाय चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए शिअद-भाजपा ने प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पूर्व उपमुख्यमंत्री व शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए हरिक पत्‍तन पुल पर धरना लगा दिया। वह देर रात तक धरने पर बैठे रहे और इससे नया ड्रामा तैयार हो गया।

Loading...

सुखबीर ने मांग की कि जिन निकायों में अकालियों को नामांकन नहीं करने दिया गया वहां के चुनाव रद करने, अकालियों पर दर्ज मामले वापस लेने और दोषी पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई हो। हरिके पत्तन पुल पर धरने से जम्मू व कश्मीर-राजस्थान मार्ग पर यातायात ठप हो गया और वाहनों की तीन किलोमीटर लंबी कतारें लग गईं।

इसके बाद कोट बुड्ढा व गोइंदवाल के पुलों पर भी अकालियों ने जाम लगा दिया, जो देर रात तक जारी रहा जिससे कपूरथला-तरनतारन रोड पर भी आवाजाही ठप हो गई। सुखबीर बादल के साथ रंजीत सिंह ब्रह्मïपुरा, बिक्रम मजीठिया सहित कई वरिष्ठ अकाली नेता भी देर रात तक धरने पर बैठे थे। सुखबीर ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को चेतावनी दी कि वे आग से न खेलें।

हरिके पत्तन पुल पर धरने देते सुखबीर बादल।

उन्‍होंने कहा कि कैप्टन भूल रहे हैं कि अकाली दल 97 साल पुरानी संघर्षों की पार्टी है। यदि कांग्रेस सरकार में हिम्मत है तो अकालियों को गिरफ्तार करके दिखाए। पार्टी वर्करों से धक्केशाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दोषी पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई के साथ अकालियों पर दर्ज फर्जी मुकदमे को जब तक वापस नहीं लिया जाता तब तक तीनों पुलों पर जाम जारी रहेगा और इसके साथ ही पूरे पंजाब के पुलों को जाम कर दिया जाएगा। उधर, मामला गंभीर होता  देख देर रात सरकार ने जीरा के डीएसपी व मल्लांवाला के एसएचओ रमन का तबादला कर दिया।

इससे पहले उन्होंने फिरोजपुर में एसएसपी ऑफिस के सामने भी धरना दिया। उन्होंने कहा कि मल्लांवाला में बुधवार को कांग्रेसियों ने अकालियों के साथ धक्केशाही की जबकि पूर्व शिअद विधायक समेत 90 अकाली वर्करों पर ही केस दर्ज कर दिया गया। उन्होंने कहा कि नौ महीनों में कांग्रेस सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई है। अब अकाली-भाजपा पर दमनचक्र चला रही है। इसमें ऐसे पुलिस अधिकारी शामिल हैं, जो कि उनका पैर पकड़े बैठे रहते थे।

धरने पर बैठे अकाली दल के कार्यकर्ता।

फिरोजपुर में दिए धरने को पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया, भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य कमल शर्मा आदि ने भी संबोधित किया। अकालियों ने बाघापुराना में भी चुनाव रद करवाने के लिए धरना दिया।

‘आइजी छीना को सबक सिखाएंगे’

सुखबीर बादल ने कहा कि लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे के बाहर पीछे से मेरा पैर पकड़कर बैठने वाले आइजी छीना के अब बोल बदल गए हैं। चार साल बाद सरकार बनने पर सबक सिखाया जाएगा।
——

वल्टोहा ने कोट बुड्ढा पुल पर लगाया धरना

हरिके पत्तन पुल पर सुखबीर सिंह बादल की अगुवाई में धरना शुरू होते ही यातायात ठप हो गया। इसके बाद पुलिस प्रशासन ने यातायात को डायवर्ट किया लेकिन इसी दौरान शिअद के प्रवक्ता प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा के नेतृत्व में फिरोजपुर से तरनतारन को जोड़ने वाले पुल कोट बुड्ढा पर भी शिअद वर्करों ने धरना लगा दिया।

गोइंदवाल पुल पर डटीं उपिंदरजीत कौर
हरिके पत्तन व कोट बुड्ढा पुल पर ट्रैफिक ठप होने से प्रशासन ने गांव खारा से ब्यास मार्ग पर यातायात को शुरू करवाया। इसी बीच पूर्व मंत्री उपिंदरजीत कौर के नेतृत्व में अकालियों ने श्री गोइंदवाल साहिब-कपूरथला मार्ग स्थित बाबा खडक़ सिंह घाट पर भी यातायात ठप कर दिया गया।

गुरुद्वारों से पहुंचाया लंगर

कपूरथला जिले के एतिहासिक गुरुद्वारों से धरनाकारियों के लिए एसजीपीसी ने लंगर की व्यवस्था की तो धरनाकारियों के हौसले बढ़ गए जिसके बाद कोट बुड्ढा में धरने में भीड़ गई जो देर रात तक डटी रही। रात भर तरनतारन जिले के डिप्टी कमिश्नर प्रदीप सभ्रवाल, एसएसपी दर्शन सिंह मान समेत सभी प्रशासनिक अधिकारी यातायात बहाल करने के लिए प्रयास करते रहे।

जालंधर में भी देर रात तक धरना

भाजपा नेताओं ने जालंधर में रिटर्निंग अधिकारी पर धांधली का आरोप लगाते हुए वीरवार रात तक डिवीजनल कमिश्नर के निवास पर धरना जारी रखा। फतेहगढ़ साहिब में भी अमलोह से गठबंधन प्रत्याशी का नामांकन रद करने के खिलाफ शिअद-भाजपा ने रात एसडीएम दफ्तर का घेराव कर दिया।
—–

कांग्रेसी कार्यकर्ता के घर के बाहर चलाई गोलियां

मोगा के थाना बाघापुराना के अधीन पड़ते गांव जीता सिंह वाला में अकाली वर्करों द्वारा कांग्रेसी कार्यकर्ता के घर के बाहर गोलियां चलाकर दहशत पैदा करने की कोशिश की गई। पुलिस ने इस मामले में मौजूदा अकाली सरपंच के भतीजे सहित 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

News Source: jagran.com

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here