सुखबीर बोले- कैप्टन सरकार ने एक भी अकाली पर जुल्म किया तो होगा आंदोलन

0

PBK NEWS | अमृतसर। शिरोमणि अकाली दल का जन्म जबर जुल्म के खिलाफ आंदोलन से हुआ है। अकाली दल ने विदेशी शक्तियों के खिलाफ आवाज बुलंद की थी और अब सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद कर रही है। अगर एक भी अकाली वर्कर पर अत्याचार हुआ तो शिअद फिर आंदोलन शुरू करेगा और इसका नेतृत्व खुद मैं करूंगा।

Loading...

सुखबीर वीरवार को श्री हरिमंदिर साहिब स्थित दीवान मंजी साहिब हाल में पार्टी के 97वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह में एसजीपीसी के पदाधिकारी, कर्मचारी और अकाली दल के नेता व वर्कर बड़ी संख्या में शामिल हुए।  सुखबीर ने कहा कि राज्य में कांग्रेस के अत्याचारों के खिलाफ संघर्ष को तेज करने के लिए अकाली दल राज्य के प्रत्येक गांव में दस-दस वालंटियरों को तैयार कर रहा है। ये कांग्रेस के जुल्म और जबर के खिलाफ आवाज उठाएंगे।

सुखबीर ने कहा कि जल्दी ही अमृतसर में अकाली दल का कार्यालय स्थापित किया जाएगा। चंडीगढ़ में अकाली दल के इतिहास को प्रदर्शन करने के लिए म्यूजियम स्थापित किया जाएगा। इस पर काम शुरू कर दिया गया है। इसलिए देश व विदेश में जिस भी अकाली वर्कर के पास अकाली दल के आंदोलनों के दस्तावेज और तस्वीरें मौजूद हों, वे इसे म्यूजिमय के लिए पार्टी को सौंपे।

पंजाब के हक के लिए संघर्ष जारी

सुखबीर ने कहा कि आजादी के बाद भी अकाली दल ने पंजाब की मांगों को लेकर जंग जारी रखी है और पंजाबी सूबे की स्थापना करवाई। आज भी अकाली दल चंडीगढ़ पंजाब को देने, पंजाब के पानी पर पंजाब का अधिकार व पंजाबी भाषी इलाके पंजाब को सौंपे जाने के लिए आवाज बुलंद कर रहा है। उन्होंने कहा कि अकाली दल के 21 वर्षों के राज कार्यकाल में 19 वर्ष प्रकाश सिह बादल मुख्यमंत्री रहे है। राज्य का सब से अधिक विकास अकाली दल के राज कार्यकाल में हुआ है। पंजाब में सामाजिक विकास भी सबसे अधिक अकाली शासन के दौरान ही हुआ है।

100वां स्थापना दिवस 2020 में बड़े स्तर पर मनाएगा शिअद

सुखबीर ने कहा कि अकाली दल का 100 वां स्थापना दिवस 2020 में बड़े स्तर पर आयोजित किया जाएगा। जिस में देश व विदेशों से वर्कर शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी के विद्यार्थी ङ्क्षवग का जल्दी ही पुर्नगठन किया जा रहा है और इसे शक्तिशाली बनाया जाएगा।

News Source: jagran.com

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here