आंगनबाड़ी सुपरवाइजर की परीक्षा में पूछे अजब गजब सवाल, हर्षिता दहिया को किसने मारा

0

PBK NEWS | पानीपत। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आंगनबाड़ी महिला सुपरवाइजर की भर्ती के लिए ली गई परीक्षा में अजब-गजब सवाल पूछे गए। ये ऐसे सवाल थे, जिनका नौकरी से कोई संबंध नहीं था। सबसे हैरान करने वाला सवाल था कि हरियाणा की रागनी गायिका हर्षिता दहिया का मर्डर क्यों हुआ और किसने किया। सवाल है कि इस सवाल का नौकरी से क्‍या तालुक्‍क है आैर अदालत के निर्णय से पहले किसी को हत्‍यारा कैसे बताया जा सकता है। इसी तरह के कई अटपटे सवालों ने परीक्षार्थियों को उलझाया।

वैसे बता दें कि हरियाणवी गायिका हर्षिता दहिया की कुछ दिन पहले पानीपत में हत्‍या कर दी गई थी। दहिया की हत्या का आरोप उसके जीजा दिनेश कराला ने जेल से कराई थी। आरोप है कि दिनेश ने हर्षिता से दुष्कर्म किया था। इससे पहले उसकी मां की गोली मारकर हत्या कर दी थी। हर्षिता दहिया ने रवींद्र पुगथला गैंग से हाथ मिला लिया। वह  दिनेश से बदला लेना चाहती थी। इससे पहले ही उसकी हत्या करवा दी गई। महिला एवं बाल विकास विभाग में सुपरवाइजर के 137 पदों के लिए लिखित परीक्षा हुई। पानीपत में कुल 24 स्थलों में 37 परीक्षा केंद्रों में लगभग 16 हजार परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया।

परीक्षा में ये सवाल भी थे- बड़खल झील किस राज्य में है? खेलों के किस क्षेत्र में विकास यादव का नाम है? हरियाणा में सबसे बड़ा व पुरान रेलवे जंक्शन कहां है? वंडर गर्ल जाह्नवी पंवार किस जिले की है? प्रश्न पेपर कुल 225 का रहा। परीक्षार्थियों की मानें तो साईंस व गणित के सवाल पाठ्यक्रम से सीधे नहीं, बल्कि टेढ़े-मेढ़े रहे। इन्हें हल करने के लिए परीक्षार्थियों को ज्यादा दिमाग लगाना पड़ा।

हरियाणा की संस्कृति व इतिहास समेत प्रदेश के करंट इश्यू से जुड़े प्रश्नों ने भी परीक्षार्थियों को पूरे 90 मिनट तक उलझाए रखा। जिला उपायुक्त डॉ. चंद्रशेखर खरे के नेतृत्व में संपन्न परीक्षा के नोडल अधिकारी एसडीएम पानीपत प्रत्येक केंद्र की पल-पल की खबर लेते रहे।

पहले से लिखी उत्तर पुस्तिका छोडऩे की चर्चा

पानीपत जिला के दो केद्रों पर एक-एक परीक्षार्थी द्वारा पहले तैयार की गई उत्तर पुस्तिका छोड़कर जाने और बोर्ड द्वारा दी गई उत्तर पुस्तिका छोड़कर जाने की खूब चर्चा रही। हालांकि, परीक्षा के नोडल अधिकारी एवं एसडीएम पानीपत ने ऐसी जानकारी से इंकार कर दिया।

नौनिहालों को संभालते दिखे पुरुष

आंगनबाड़ी महिला सुपरवाइजर की लिखित परीक्षा में परीक्षार्थियों को इस तरह के सवालों ने खूब परेशान किया।
महेंद्रगढ़ की दीपिका का कहना था कि परीक्षा में आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के कामकाज से कम, दूसरे सवाल ज्यादा थे। सामान्य ज्ञान के सवाल भी सीधे नहीं बल्कि घुमा-फिराकर किए गए थे।

दिल्ली कैंट से पहुंची आरजू ने कहा कि जिसने कक्षा 12 तक की पढ़ाई ठीक ढंग से की है और न्यूजपेपर और समाचारों में रुचि रखी है, उसके लिए पेपर सरल था। गृहस्थी में रम चुके परीक्षार्थियों के लिए मुश्किल है। महेंद्रगढ़ की ममता ने कहा कि पेपर ज्यादा कठिन नहीं था। खासकर आंचलिक विषयों से जुड़े प्रश्न आसान रहे। सामान्य ज्ञान के कई प्रश्न ऐसे रहे जिनका जवाब लिखने के लिए दिमाग पर जोर देना पड़ा ।

News Source: jagran.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here