बदलती जीवनशेली में बनती बीमारियों के लिए खानपान पर ध्यान जरूरी : डॉ. अंकित भारतीय

0

गुड़गांव, 1 नवम्बर (अजय) : स्पर्श अस्पताल के डॉ. अंकित भारतीय कहते है कि यदि सीने में जलन हो, तो व्यक्ति से कुछ काम नही बन पड़ता। ऐसे व्यक्तियों के लिए कुछ भी खाना, पीना, सोना, उठना और बैठना सब मुश्किल हो जाता है। उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति को जानकारी हो कि उसे गैस की वजह से हार्ट बर्न या सीने में जलन हो रही है, वह इसे हलके में लेतें हैं, और जिन्हें न पता हो वह इसे हार्ट अटैक समझ कर घबरा भी सकतें हैं। ऐसे में, सीने में जलन के लक्षणों के आधार पर उसे पहचान कर, व्यक्ति कुछ आसान तरीकों से घर पर भी इस जलन से तुरंत निजात पा सकता है। लेकिन वहीं इससे हमेशा के लिए निजात पाने के लिए आपको अपने खान-पान को सुधारना ही होगा। यदि आप ऐसा नहीं करतें हैं, तो हो सकता है कि कुछ समय के बाद आपको किसी गंभीर समस्या के चलते डॉक्टर के पास जाकर इसका महंगा उपचार भी करवाना पड़ें।

नीचे कुछ ऐसे घरेलू उपचार दिए जा रहें हैं, जिनसे आप सीने में जलन में तुरंत राहत पा सकतें हैं

ग्रीन टी, पेट में होने वाली बैचेनी, दर्द जलन और गैस के लिए अच्छा कार्य करती है। इसके सेवन के तुरंत बाद ही आपको पेट में राहत महसूस होगी। यह ग्रीन टी, नींबू, तुलसी या पुदीने में से किसी की भी हो सकती है।

दही पेट की पाचन क्रिया में बेहद मददगार होती है। यदि आप इसकी लस्सी बना लें तो यह और भी बेहतर होगा।

पपीता, जिसमें पपाइन नाम का इंजाइम होता है, पाचन के लिए बेहद उत्तम उपाय है। हो सके तो पपीते का सेवन रोजाना कीजिये।

मुलेठी, का सेवन भी हार्ट बर्न में फायदेमंद है। प्राकृतिक दवाई के रूप मे प्रयोग किया जाता है। यह कोलेस्‍ट्रामल को सोख कर गैस्‍ट्रिक एसिड को बनने से रोक देता है।

एलो वेरा का जूस गैस्‍ट्रिक एसिड बनाने वाले बैक्‍टीरिया को मारता है। इसमें विटामिन ए, बी1, बी2, बी3, सी और ई होता है जो एक नेचुरल एस्‍ट्रीजेंट है और यह हार्ट बर्न को दूर करता है।

काला नमक, भुना जीरा और हींग को बराबर मात्रा में लेकर बारीक चूर्ण बना लीजिये और इसका सेवन गुनगुने पानी के साथ कर लीजिये। इस से पाचन, दर्द गैस और हार्ट बर्न सभी में तुरंत राहत मिल जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here